बथुआ का साग खाने के 10 चमत्कारी फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

Bthuaa Ka Saag Khane Ke Fayde : बथुआ (Bthuaa ka saag) एक औषधिय सब्जी का नाम है, इस कि सब्जी खाने से शरीर निरोगी ओर स्वस्थ रहता है, बथुआ (Bthuaa saag benifits) शरीर मे पथरी नही बनने देता और अगर आप के शरीर मे पथरी है तो बथुए (Bthuaa) की सब्जी नित्य रोज खाने से पथरी टूटकर निकल जाती है। बथुए (Bthuaa Ka Saag Khane Ke Fayde) में बहुत प्रकार के मिनरल्स ओर पोष्टिक तत्व पाए जाते है, इसमें लोहा, पारा, सोना और क्षार तत्व पाया जाता है। यह पौधा (Bthuaa ke fayde) सर्दियों के मौसम में सरसों के साथ खरपतवार के रूप में उगता हैं और खेतों में आम पाया जाता है।

बथुआ का साग (BTHUAA KA SAAG)

बथुआ का साग खाने से बहुत से चमत्कारी लाभ मिलते है, जिनका विस्तारपूर्वक वर्णन नीचे दिया गया है, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

Bthuaa Ka Saag Khane Ke Fayde

1. बथुआ रखे शरीर को निरोग

बथुए का साग शरीर को स्वस्थ ही नही बनाता बल्कि निरोग भी रखता है, बथुए का सेवन जितना ज्यादा किया जाए उतना ज्यादा शरीर के लिए लाभदायक है, बथुए के साग में सेंधा नमन मिलाकर खाया जाए तो इसका स्वाद और गुण बढ़ जाते है।

2. पेशाब सम्बंधी रोग

आप 1/2 किलो बथुआ को 3 किलो पानी मे उबाल लें और छान लें, बथुए को निचोङ कर निकाल दे और बचे हुए पानी मे नींबू, जीरा, काली मिर्च ओर सेंधा नमक मिला कर पी ले। इस प्रकार तैयार कर दिन में 3 बार पिया हुआ पानी आपकी पैशाब से सम्बंधी जितनी भी बीमारिया है, सब दूर हो जाती है, यह पेशाब के रोग जैसे पैशाब में जलन, पैशाब करने के बाद जलन, पेट की गैस, अपच आदि समस्याओं को दूर करता है। इस से पेट हल्का लगता है और पेट साफ रहता है।

3. पेट के रोग

सर्दियों के मौसम में बथुए का साग बहुत आसानी से मिल जाता है, जब तक बथुआ आसानी से मिलता है रोज इसका साग खाना चाहिए। यह पेट की विभिन्न बीमारियों यकृत, तिल्ली, अजीर्ण, गैस, कृमि, दर्द, अर्श, पथरी जैसी बीमारियां ठीक करता है।

4. पथरी

अगर आपके पेट मे पथरी है जो आप रोजाना कच्चे बथुए का रस निकाल कर उस मे शक्कर मिलाकर सेवन करे इससे पथरी टूटकर बाहर आ जायेगी।

5. मासिक धर्म

अगर आपका मासिक धर्म रुका हुआ है तो आप 2 चम्मच बथुए के बीज एक गिलास पानी मे उबाल ले और तब तक उबाले जब तक पानी आधा ना रह जाये, उस के पद पानी ठंडा कर इसका सेवन करे इस से मासिक धर्म खुल कर आएगा।

6. कब्ज

अगर आपको कब्ज रहती है तो बथुआ आपके लिए रामबाण औषधि है। यह आपके आमाशय को ताकत देता है। कुछ दिन तक लगातार आप बथुए का सेवन करते है तो आपकी कब्ज कितनी भी पुरानी क्यों ना हो दूर हो जाएगी, इस से शरीर मे ताकत और स्फूर्ति बनी रहती है।

7. फोड़े, फुंसी, सूजन में उपयोगी

अगर आप शरीर पर फोड़े, फुंसी जैसी बीमारी से परेशान है तो आप बथुए को कूटकर सोंठ ओर नमक मिला ले इसे कपड़े में बांधकर, ओर कपड़े और गीली मिट्टी लगाकर आग में सेक ले। जब सिक जाए तो इसे गर्म गर्म फोड़े पर लगाये इस से फोड़ा बैठ जाएगा या पककर शीघ्र ही फुट जाएगा।

8. रक्तपित्त

कच्चे बथुए के एक कप रस में सेंधा नमक स्वादानुसार मिलाकर पीने से कृमि मर जाते है।

9. खाज-खुजली, दाद में उपयोगी

आगर आप चर्म रोग और दाद से परेशान है तो बथुआ आपके लिए रामबाण औषधि है। आपके शरीर पर दाद, खाज-खुजली, फोड़ा-फुंसी है तो बथुआ उबाल कर निचोड़ लें और उसका रस पिये तथा साथ मे बथुए की सब्जी खाएं। बथुए के कच्चे पत्तों का रस निकाल कर उस मे एक कप तिल का तेल मिलाकर मन्द-मन्द आग और इसे अच्छी तरह पका लें और ठंडा कर शीशी में भर ले और शरीर मे जंहा जंहा चरम रोग है वँहा लगाए इस से आपको आराम मिलेगा।

10. गुर्दा रोग में लाभदायक

अगर आप को पैशाब रुक रुक कर आता है तो बथुआ आपके लिए रामबाण औषधि से कम नही है। अगर आपका पेसाब रुक रुक कर आता है तो बथुए का रस पीने से आपको इस बीमारी से आराम मिलेगा। मूत्राशय, गुर्दा, ओर पैशाब के रोगों में बथुआ बहुत फायदेमंद है।

टिप्पणी :- सलाह इस लेख में दी गई जानकारी सामान्य जानकारी पर आधारित है इस का सेवन किसी भी बीमारी में करने से पूर्व एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवे।

Read Now :- सरसों का साग खाने से शरीर को होने वाले 7 फायदे

Leave a comment